नेमावर की गलियों में सांड का आतंक कई लोगों को किया था घायल!

नेमावर की गलियों में सांड का आतंक कई लोगों को किया था घायल!

खूंखार सांड भूरा को नगर परिषद अमले ने पकडा

कन्नौद जनपद एवं तहसील परिसर में सांड का आतंक बरकरार,

—————————————
अनिल उपाध्याय
खातेगांव /
नेमावर की गलियों में पिछले 20 दिनों से खूंखार सांड भूरा ने आतंक मचा रखा था! जिसे नागरिकों की शिकायत पर नगर परिषद की टीम ने पकड़ कर जंगल में छोड़ दिया लेकिन कन्नोद जनपद पंचायत परिषद एवं तहसील कार्यालय परिसर के आस पास अभी भी सांड का आतंक बरकरार है ! सांड के आतंक के चलते शासकीय कार्यों में पदस्थ कर्मचारी के साथ ही वहां पहुंचने वाले नागरिक सांड के आतंक से भयभीत नजर आते हैं !नेमावर की तरह कन्नौद में आतंक का पर्याय बन चुका सांड को भी जंगल में छोड़ने की मांग उठने लगी है!
उधर नेमावर में सांड दर्जनों लोगों पर हमला कर उने घायल कर चुका था! हमले में जहां एक व्यक्ति को फैक्चर हो गया तो वही दूसरा अस्पताल में भर्ती है!
सिद्धनाथ मार्ग पर गणेश हलवाई को चोट पहुंचाई जिससे उनके पैर की हड्डी टूट गई ललित पांडे पर कृष्णा गली में हमला किया जिनसे उनके हाथ पैर और कमर में चोट पहुंची वही गणेश खत्री
महेश व्यास इससे पहले भी सांड द्वारा कई लोगों पर हमला किया जा चुका है! जिसमें कुछ लोग अस्पताल में भर्ती रहे, नगर परिषद अमले ने बडी मशक्कत के बाद बुधवार शाम को खूंखार सांड भूरा को रस्सी से पकडकर काबू मैं किया।इस दौरान बाजार चौक मैं इस नजारे को देखने के लिए लोगों की भीड़ लग गई। कुछ समय के लिए तो अफरातफरी मच गई । वमशक्कत भूरा सांड को अमले ने रस्सी से बांधकर ट्रेक्कर से बांधकर ले जाया गया। तब कहीं लोगों ने राहत की सांस ली। बताया जा रहा हैं की भूरा सांड ने पूरे नगर मैं अपना आतंक मचा रखा था। जहां वह खडा हो जाता था। राहगीर अपना रास्ता बदल लेते थे।

दर्जन लोगों को सांड ने
किया घायल,
———————–
भूरा सांड ने सिद्धनाथ मार्ग पर गणेश हलवाई को चोट पहुंचाई जिससे उनके पैर की हड्डी टूट गई बुधवार को ललीता पांडे पर कृष्ण गली मोहल्ले में पीछे से हमला कर दिया जिससे उनके हाथ व कमर में चोट पहुंची इसके अलावा सांड ने गणेश खत्री प्रभावती पाण्डे महेशचन्द्र व्यास सहित आधा दर्जन लोगों को घायल कर दिया था।

सांड को पकडने के लिए
टीम की गठित,
—————-
नागरिको ने सांड के आंतक से परेशान होकर संपूर्ण घटना की जानकारी नगर परिषद अध्यक्ष प्रतिनिधि मंगलेश यादव को दी इसके बाद तत्काल नगर परिषद ने सांड को पकडने के लिए एक टीम बनाई गई इसमें महेश, आशीष, सोनू विजय यादव रामभरोस ,कालूराम को शामिल कर उन्हे सांड पकडना कि जिम्मेदारी सोपी गई टीम ने घेराबंदी कर सांड को पकड़ा
कर उसे जंगल में छोड़ा

One thought on “नेमावर की गलियों में सांड का आतंक कई लोगों को किया था घायल!

  • March 15, 2019 at 10:40 am
    Permalink

    Like!! Thank you for publishing this awesome article.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: