जिले में लाखों गरीब परिवारों को अगले माह जुलाई से बड़ी राहत मिलने जा रही है। इन गरीबों का बकाया बिजली बिल माफ हो जाएगा। वही अगस्त माह से उन्हें बिजली बिल के रूप में महज 200 रुपए चुकाना होंगे।

जिले में लाखों गरीब परिवारों को अगले माह जुलाई से बड़ी राहत मिलने जा रही है।

इन गरीबों का बकाया बिजली बिल माफ हो जाएगा। वही अगस्त माह से उन्हें बिजली बिल के रूप में महज 200 रुपए चुकाना होंगे।

✍इरशाद मंसुरी की रिपोर्ट ✍

अलीराजपुर
अलीराजपुर यह राहत एक जुलाई से लागू होने जा रही मुख्यमंत्री बिल माफी और सरल बिजली बिल योजना के तहत मिलेगी। इस योजना में जिले में 45 करोड़ रुपए से अधिक की बकाया बिजली बिल राशि माफ होगी।
मालूम हो, सरकार ने इस योजना में बीपीएल परिवारों के साथ असंगठित श्रमिकों को भी शामिल किया है। जिले में पंजीकृत असंगठित श्रमिकों की संख्या 3 लाख 48 हजार है। इन परिवारों को अगस्त माह से 200 रुपए प्रतिमाह में बिजली मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए उन्हें एक हजार वाट के कनेक्शन दिए जाएंगे। अगर बिजली बिल 200 रुपए से अधिक आएगा तो शेष राशि सरकार जमा करेगी। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार इस योजना में लाभान्वित होने वाले परिवारों के बिजली बिलों में जुलाई में बकाया राशि शून्य कर दी जाएगी। उसके बाद एक हजार तक के बिल वाले उपभोक्ताओं को सिर्फ 200 रुपए बिजली बिल जमा करना होगा। यदि 200 रुपए बिजली बिल बनकर आया तो यह पूरी राशि जमा करना होगी। इससे अधिक बिल आएगा तो सरकार यह राशि जमा करेगी। इसके लिए सरल बिल जारी किए जाएंगे।
सदस्य के नाम कनेक्शन तो भी मिलेगा लाभ
असंगठित श्रमिक श्रेणी या बीपीएल श्रेणी में पंजीकृत घरेलू उपभोक्ताओं के लिए यह योजना है। यदि पंजीकृत व्यक्ति के नाम से बिजली कनेक्शन नहीं है, उसके परिवार के किसी अन्य सदस्य के नाम कनेक्शन है तो उसका नाम समग्र डाटाबेस में परिवार के रूप में होना चाहिए। नाम होने पर बिजली बिल की बकाया राशि माफ हो जाएगी। उन्हें भी प्रतिमाह बिजली बिल 200 रुपए का ही जारी होगा।
यह है सरल बिजली बिल योजना
असंगठित क्षेत्र के पंजीकृत श्रमिक, जिनका घरेलू बिजली कनेक्शन है। स्वीकृत भार एक हजार वाट ही है। एयरकंडीशनर और हीटर का उपयोग न हो। कनेक्शन परिवार के किसी भी सदस्य के नाम से हो लेकिन सदस्य वहीं माने जाएंगे। इनका नाम समग्र डाटाबेस में परिवार के रूप में दर्ज हो।जुलाई माह से यह योजना शुरू की जाएगी। यानी जून महीने से इसकी गणना होगी। इस योजना में जिले के 3 लाख 48 हजार असंगठित श्रमिकों को लाभ मिलेगा।
श्रमिक ऐसे लें योजना का लाभ
योजना में शामिल होने के लिए पंजीकृत श्रमिकों को निर्धारित आवेदन पत्र भरकर बिजली कंपनी के कार्यालय में जमा करना होगा। इसके लिए स्व घोषणापत्र के साथ पंजीकरण का प्रमाणपत्र भी प्रस्तुत करना होगा। वही उपभोक्ता का मोबाइल नंबर और आधार कार्ड की फोटो कॉपी भी जमा करना होगी।
सरकार भरेगी अतिरिक्त बिल राशि
जिले में दोनों योजनाएं अगले माह से शुरू होने जा रही है। इसमें 45 करोड़ रुपए से अधिक की बकाया राशि माफ होगी। योजना में यह राशि सरकार जमा करेगी। योजना में शामिल उपभोक्ताओं को एक हजार वाट पर 200 रुपए से अधिक का बिल नहीं दिया जाएगा। बिल अधिक आने पर सरकार अतिरिक्त राशि जमा करेगी।
00 बिजली वितरण कंपनी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *